शिकवा

शिकवा

  शिकवा अल्लामा इकबाल की सबसे प्रसिद्ध रचना है जिसमे उन्होंने इस्लाम के स्वर्णयुग को याद करते हुए खुदा से मुसलमानों के हालत के बारे में शिकायत की है शिकवा शिकवा शिकवा – अल्लामा इकबाल Shikwa ( poetry ) Allama Iqbaal शिकवा क्यूँ  जियां-कार  बनू  सूद-फरामोश  रहूँ फिक्र -ए-फर्दा न करू महव-ए-गम-ए-दोश रहूँ नाले बुलबुल … Read more